उत्तराखंड

हिमालयन हॉस्पिटल जॉलीग्रांट में 200 बेड का कोविड वॉर्ड तैयार

कोविड गाइडलाइन का पालन व वैक्सीनेशन जरुर करवाएं- डॉ.विजय धस्माना

हिमालयन हॉस्पिटल जॉलीग्रांट में 200 बेड का कोविड वॉर्ड तैयार

देहरादून ऋषिकेश Rishikesh News : कोरोना की दूसरी लहर के बीच हिमालयन हॉस्पिटल जॉलीग्रांट में कोविड संक्रमित रोगियों के लिए उपचार के लिए 200 बेड का कोविड वॉर्ड तैयार किया गया है. इसके अलावा यहां 25 बेड का कोविड आईसीयू वॉर्ड भी बनाया गया है.

एसआरएचयू के कुलपति डॉ. विजय धस्माना ने कहा कि 1994 से हिमालयन अस्पताल रोगियों की स्वास्थ्य सेवा कार्यरत है. जब कभी राज्य में कोई आपदा आई है तो अस्पताल अपनी सेवा देने से पीछे नहीं हटा है. इस संकटकाल में भी हिमालयन हॉस्टिल सामाजिक जिम्मेदारी के दायित्व को बखूबी निभा रहा है. बताया कि कोरोना वायरस के खतरे देखते हुए हिमालयन हॉस्पिटल में 200 बेड वाला कोविड वॉर्ड व 25 बेड वाला हाईटेक आईसीयू वॉर्ड तैयार किया गया है. आइसोलेशन वॉर्ड वैंटिलेटर युक्त है.

कोरोना गाइडलाइन का पालन व वैक्सीनेशन जरूर करवाएं
कुलपति डॉ.विजय धस्माना ने कहा कि संक्रमण के इस दौर में यह जरूरी है कि हम सभी कोरोना गाइडलाइन का पूरी तरह पालन करें. उच्च गुणवत्ता वाला मास्क ही पहनें. सोशल डिस्टेंशिग का पालन करें. इसके अलावा उन्होंने सभी संस्थान के सभी स्टाफकर्मियों व छात्र-छात्राओं से वैक्सीनेशन करवाने की अपील की है.

कोरोना संकट के बीच हमें आगे बढ़ना होगा
एसआरएचयू के कुलपति डॉ.विजय धस्माना ने कहा कि कोरोना संकट के बीच हमें आगे बढ़ना होगा. दैनिक दिनचर्या के बीच हमें अपने आपको कोरोना संक्रमण से बचाना भी होगा. साथ ही विशेष ध्यान यह भी रखना होगा कि अगर हमें कोरोना संक्रमण हो जाता है तो यह संक्रमण दूसरे तक न फैलने दें.

कोरोना ग्रसित रोगियों के लिए ओटी, आईसीयू, वॉर्ड सभी अलग-अलग
कुलपति डॉ.विजय धस्माना ने बताया कि हिमालयन अस्पताल की ओर से जो रोगी कोरोना से संक्रमित हैं. उनके लिए अस्पताल की मुख्य बिल्डिंग से अलग दूसरी बिल्डिंग में उपचार की सभी व्यवस्थाएं की गई हैं. उसी बिल्डिंग कोरोना ग्रसित रोगियों के लिए वॉर्ड से लेकर ऑपरेशन थियेटर, आईसीयू, लेबर रुम व फार्मेसी की भी व्यवस्था की गई है.

कोविड वॉर्ड में मेडिकल स्टाफ की अलग से तैनाती
हिमालयन अस्पताल में कोरोना संक्रमित रोगियों के अलावा अन्य मरीज भी उपचार के लिए आ रहे हैं. ऐसे में उन मरीजों की सुरक्षा व संक्रमण न फैले इसके मद्देनजर अस्पताल प्रशासन ने बिल्डिंग ही नहीं स्टाफ की भी अलग व्यवस्था की है. डॉक्टर, नर्सिंग स्टाफ सहित टेक्निशियन दोनों बिल्डिंग में अलग-अलग तैनात किए गए हैं.

अन्य रोगियों के लिए हिमालयन हॉस्पिटल के मुख्य भवन में ओपीडी, आईपीडी सुचारु
कुलपति डॉ.विजय धस्माना ने बताया कि जिन रोगियों को कोरोना संक्रमण नहीं है. उनके लिए हिमालयन अस्पताल की मुख्य बिल्डिंग में ही ओपीडी सहित 1000 बेड की आईपीडी व्यवस्था पूर्व की भांति सामान्य रुप से चल रही है. अन्य रोगियों को गुणवत्तापरक स्वास्थ्य सेवा देने को हम कृतसंकल्प हैं.

हॉस्पिटल इन्फेक्शन कंट्रोल यूनिट रखती है पूरी निगरानी
हिमालयन हॉस्पिटल में इन्फेक्शन कंट्रोल यूनिट संक्रमण न फैले इस पर पूरी निगरानी रखती है. टीम की निगरानी में हॉस्पिटल के सभी कॉरिडोर, ओपीडी एरिया व वॉर्ड में दिनभर में एक एक निश्चित समय अंतराल पर हाई डस्टिंग क्लीनिंग व सैनीटाइज किया जाता है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close