उत्तराखंड

छात्र-छात्राओं को इंटरनेट व रोबोटिक्स कार्यों की दी जानकारी

ऋषिकेश इंटरनेशनल स्कूल में आयोजित हुई कार्यशाला

छात्र-छात्राओं को इंटरनेट व रोबोटिक्स कार्यों की दी जानकारी

ऋषिकेश Rishikesh News : ऋषिकेश इंटरनेशनल स्कूल ढालवाला में इंटरनेट एंड थिंग्स व रोबोटिक्स शीर्षक पर कार्यशाला आयोजित हुई। आईटी के विशेषज्ञों ने छात्र-छात्राओं को इंटरनेट व रोबोटिक कायों की जानकारियां दी। उन्होंने इसकी महत्ता के बारे में छात्र-छात्राओं को जागरूक किया।

शुक्रवार को ढालवाला स्थित ऋषिकेश इंटरनेशनल स्कूल में रूड़की इंजीनियरिंग कॉलेज द्वारा इंटरनेट एंड थिंग्स व रोबोटिक्स शीर्षक पर आयोजित कार्यशाला का शुभारंभ कॉलेज के असिस्टेंट प्रोफेसर मयंक देव, ऋचा, डा. हर्षिता चौधरी व विद्यालय सचिव कप्तान सुमंत डंग ने संयुक्त रुप से किया। रूड़की इंजीनियरिंग कॉलेज के असिस्टेंट प्रोफेसर मयंक देव ने कहा कि इन्टरनेट ऑफ थिंग्स के जरिए हमारे जीवन में उपयोग होने वाली उन सभी चीजों को बहुत ही आसानी से समयानुसार इस्तेमाल कर सकते हैं और समय की बचत भी कर सकते हैं।

असिस्टेंट प्रोफेसर डा. हर्षिता चौधरी ने कहा कि हम सर्वर की सहायता से एयर कंडीशनर, वाशिंग मशीन जैसी जरुरतमंद चीजों का उपयोग कर सकते हैं। अब टेक्नोलॉजी की परिभाषा स्मार्टफोन टीवी या स्मार्टवॉच तक ही सीमित नहीं रह गई है। इसकी जगह अब इंटरनेट ऑफ थिंग्स ने ले ली है। इस तरह से एक डिवाइस को इंटरनेट के साथ लिंक कर के बांकी डिवाइसेज से अपने अनुसार कुछ भी कार्य करवाया जा सकता है। इससे क्राइम, प्रदूषण, ट्रैफिक आदि समस्याओं से आसानी से निपटा जा सकता है। शिक्षा के क्षेत्र में तेजी से तकनीक का प्रयोग बढ़ रहा है।

विद्यालय सचिव कप्तान सुमंत डंग ने कहा कि रोबोट एक आभासी या यांत्रिक कृत्रिम एजेंट है। आने वाले समय में ऑनलाइन पढाई करने वाले छात्र-छात्राओं के लिए उपयोगी सिद्ध होगा।

प्रधानाचार्या डॉ. कोयली चक्रवर्ती व विद्यालय कॉउंसलर महिमा डंग ने रोजाना बैकों, घरों, ऑफिस व अन्य जगहों पर उपयोग हो रही टैक्नोलॉजी व रोबोटिक्स वर्क के बारे में बताया। बताया कि किसी प्रकार इंटरनेट के जरिए कई कार्यों को आसानी से किया जा सकता है।

कार्यशाला में आरती कुरियाल, सुचिता, सोनी, बिंदु शर्मा, अजय सती, अमनदीप कौर, आस्था भट्ट, कल्पना बलोदी आदि उपस्थित थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close