राष्ट्रीय

कर्मचारियों को हफ्ते में 4 दिन काम करने का मौका मिलेगा, यह शर्तें होंगी लागू

कर्मचारियों को हफ्ते में 4 दिन काम करने का मौका मिलेगा, यह शर्तें होंगी लागू

Kishan Mohan vishvakarma 

दिल्ली Delhi news : भारत का केंद्रीय श्रम एवं रोजगार मंत्रालय (Ministry of Labor and Employment) जल्द ही नए लेबर कोड को लागू करने की तैयारी कर ली है। नए लेबर कोड (New Labor Code) के अंतर्गत कंपनियों के लिए सहूलियत होगी, कंपिनयां अपने कर्मचारियों से एक सप्ताह में चार दिन ही काम करवाएंगी और स्टेट इंश्योरेंस के तहत फ्री-मेडिकल चेकअप भी कराए जाएंगे। कर्मचारियों को 4 दिन तक काम करने की सहूलियत के बावजूद एक सप्ताह में कुल 48 घंटे काम (work) करना होगा। नए लेबर कोड (New Labor Code) के तहत कर्मचारियों को तीन दिन की छुट्टी मिलेगी, लेकिन काम (work) के दिन 12 घंटे तक ड्यूटी करनी होगी।

केंद्रीय श्रम एंव रोजगार मंत्रालय के सचिव अपूर्वा चंद्रा ने सोमवार को नए लेबर कोड के बारे में जानकारियां दी। उन्होंने कहा कि ‘मंत्रालय नियोक्ता या कर्मचारियों पर दबाव नहीं डाल रही है। उनके पास दोनों विकल्पों की सहूलियत मौजूद होगी। लेकिन कामकाम की बदलती संस्कृति व व्यवहार को देखते हुए यह व्यवस्था की जा रही है। इसमें कुछ बदलाव करने की कोशिश की गई है। जिसके मुताबिक कामकाज (work) के दिन को लेकर कुछ सहूलियत देने की भी कोशिश की गई है।

सचिव अपूर्वा चंद्रा ने बताया कि लेबर कोड (New Labor Code) के तहत ड्राफ्ट रूल्स लगभग अंतिम चरण में हैं और इसे तैयार करने की प्रक्रिया में अधिकतर राज्य शामिल भी रहे हैं। जिनमें उत्तर प्रदेश, पंजाब और मध्यप्रदेश जैसे राज्य भी हैं। कहा कि नियम बनाने की प्रक्रिया अभी चल रही है और आने वाले वीक में यह पूरा भी कर लिया जाएगा। लेबर कोड (New Labor Code) के नियम बनाने को लेकर सभी हितधारकों से विचार-विमर्श किया गया है और बहुत जल्द ही मंत्रालय इन चारों कोड को लागू कर देगा।

नए लेबर कोड (New Labor Code) में कर्मचारियों को एक सप्ताह में 48 घंटे काम करना जरूरी होगा। लेकिन, कंपनियां अपने कर्मचारियों से सप्ताह में 4 दिन भी काम करा सकेंगी। लेकिन इसके लिए कर्मचारियों को इन 4 दिनों में प्रतिदिन 12 घंटे काम करना जरूरी होगा। नया कोड (New Labor Code) लागू होने पर नियोक्ताओं को 4 या 5 वर्किंग-डे को लेकर सरकार से मंजूरी लेना अनिवार्य होगा।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close