राष्ट्रीय

भारत में कोरोना के नए स्ट्रेन के मरीज मिलने से हड़कंप

नई दिल्ली: कोरोना वायरस का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है। विश्व में अब कोरोना के नए स्ट्रेन से चिंताएं बढ़ गई है। भारत में भी अब कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन के 6 मामलों की पुष्टि हुई है। ब्रिटेन की यात्रा से लौटे छह लोगों में कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन सामने आया है। इन सभी लोगों को आइसोलेट कर दिया गया है और उनके संपर्क में आए लोगों की पहचान करने में स्वास्थ्य विभाग की टीम जुट गई है।

भारत में कोरोना वायरस (COVID-19) का कहर जारी है। इसी बीच अब कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन ने भी देश में दस्तकर दे दी है। ब्रिटेन से लौटे छह लोगों में कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन मिला है। स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार इनमें तीन सैंपल की NIMHANS, बेंगलुरु (The National Institute of Mental Health and Neuro-Sciences) में पुष्टि हुई है। इसके अलावा दो सैंपल CCMB, हैदराबाद (Centre for Cellular & Molecular Biology) में मिले हैं और एक NIV, पुणे (National Institute of Virology) में मिला है। इन पॉजिटिव पाए गए लोगों को अलग कमरे में आइसोलेट कर दिया गया है।

इन देशों में मिला कोरोना का नया स्ट्रेन
भारत सहित ब्रिटेन, स्पेन, स्वीडन, जर्मनी, इटली, नीदरलैंड्स, स्विटजरलैंड, फ्रांस, डेनमार्क, ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, जापान, लेबनान, नाइजीरिया और सिंगापुर में कोरोना वायरस के नये स्ट्रेन के मामले सामने आ चुके हैं। वहीं दक्षिण अफ्रीका में मिला कोरोना वायरस का एक नया स्ट्रेन ब्रिटेन के नए स्ट्रेन से अलग बताया जा रहा है।

कोरोना का नया स्ट्रेन ज्यादा संक्रामक
कोरोना वायरस (COVID-19) के नए स्ट्रेन के कारण कई देशो की सरकार सहित आम लोगों की चिंताएं बढ़ी है। इसके सबसे बड़ा कारण वायरस का नए स्ट्रेन का काफी तेजी से फैलना बताया जा रहा है। बताया जा रहा है कि कोरोना का यह नया स्ट्रेन अधिक से अधिक लोगों को जल्दी से संक्रमित करता है। इससे म्यूटेशन से वायरस के उन हिस्सों में बदलाव देखने को मिला है जो इंसान की कोशिकाओं पर बहुत जल्दी असर डालते हैं। जानकारी के अनुसार कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन 70 फीसदी ज्यादा संक्रामक होगा।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close