उत्तरप्रदेश

वाहनों पर जाति-सूचक नेमप्लेट लगाना पड़ेगा महंगा

लखनऊ:  यूपी की राजनीति और सामाजिक व्यवस्था में जातीय समीकरण बेहद अहम रहे हैं। जिसकी झलक वाहनों पर भी देखने को मिलती रही है। यहां आमतौर पर लोग अपनी गाड़ियों के नेमप्लेट पर पंडित, यादव, जाट, गुर्जर, राजपूत, क्षत्रिय, मौर्य जैसे जाति-सूचक नाम लिखवा वाहन चलाते हैं। लेकिन अब योगी सरकार ऐसा करने वालों पर सख्त कार्रवाई करेगी। योगी सरकार अब जातिसूचक स्टीकर लगे होने पर गाड़ियों को सीज करेगी। साथ ही ऐसे गाड़ी मालिकों का चालान कर दिया जाएगा।

उत्तरप्रदेश में गाड़ियों पर स्टीकर के माध्यम से अपनी जाति को दर्शाने पर सरकार ने प्रतिबंध लगा दिया है। अगर आप ऐसा कर रहे हैं तो अब आपको यह महंगा पड़ सकता है। प्रदेश सरकार ने इस चलन पर लगाम लगाने की तैयारी कर ली है। इसके लिए प्रदेश के सभी ज़िलों के परिवहन अधिकारियों को निर्देशित कर दिया गया है।

पीएमओ ने यूपी सरकार को रोक लगाने के दिए थे निर्देश
सूत्रों के मुताबिक केंद्र सरकार को लगातार शिकायतें मिल रही थीं कि गाड़ियों मे जातिसूचक स्टीकर लगाने का प्रचलन ज़्यादा हो गया है। इसके जरिए सांकेतिक अर्थ एक-दूसरी जातियों को कमतर दिखाया जा रहा है। ऐसे में सभ्य समाज के लिये ऐसी परंपरा ठीक नहीं है। जिसके आधार पर प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) ने यूपी सरकार को पत्र लिखकर इस प्रथा पर रोक लगाने के निर्देश दिए। जिसके बाद योगी सरकार ने इस निर्देश को प्रदेश के सभी जनपदों के परिवहन अधिकारियों को जारी कर दिए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close