उत्तराखंड

गांव में हुई थी रामलीला, अब पूरा गांव ही बन गया कंटेनमेंट जोन

 

पौड़ी: उत्तराखंड में कोरोना का कहर कम होने का नाम नहीं ले रहा है। प्रदेश में प्रतिदिन कोरोना संक्रमण के नए मामले मिल रहे हैं। शहर के अलावा गांव में भी कोरोना संक्रमण पैर पसार (Corona infection foot spread) रहा है। पौड़ी जिले के पोखड़ा ब्लॉक में कोरोना को लेकर बड़ी खबर सामने आई है। यहां पोखडा ब्लॉक के सिलेथ गांव में एक साथ 39 ग्रामीणों में कोरोना संक्रमण (Corona infection in villagers) पाया गया है।

पौड़ी जिले के पोखड़ा ब्लॉक में मिले कोरोना संक्रमितों में करीब 12 लोग वरिष्ठ नागरिक (senior citizen) हैं। स्वास्थ्य विभाग (health Department) ने पूरे गांव को कंटेनमेंट जोन घोषित कर सील करवा दिया है। जानकारी के अनुसार क्षेत्र में 24 नवंबर से 1 दिसंबर तक रामलीला करवाई गई थी। जिसमें ग्रामीणों ने शिरकत की थी। रामलीला के बाद से ही कई लोगों को बुखार, खांसी, जुकाम जैसी शिकायतें होने लगी थी। जिसके बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम ने ग्रामीणों की कोरोना जांच की। कोरोना जांच में 39 ग्रामीणों में कोरोना वायरस की पुष्टि (Corona virus confirmed) हुई है।

अब स्वास्थ्य विभाग की टीम (health Department team) गांव के अन्य लोगों की भी जांच करने में जुटी है। क्षेत्र के मुख्य चिकित्साधिकारी मनोज शर्मा के अनुसार पोखड़ा ब्लॉक के सिलेथ गांव को कंटेनमेंट जोन बना दिया गया है। यहां गांव में वर्तमान में 285 लोग निवास करते हैं। विगत सात दिसम्बर को स्वाथ्य विभाग ने उक्त गांव के 86 ग्रामीणों के कोरोना जांच के लिए सैंपल लिए थे। जिनमें से 39 की रिपोर्ट पॉजिटिव आ गई है। प्रभारी चिकित्साधिकारी आरती बहेल का कहना है कि स्वास्थ्य विभाग की टीम गांव में कोरोना संक्रमित लोगों को होम आइसोलेट कर दवाइयां देने में लगी है।

उत्तराखंड में फिर दिख रही कोरोना की रफ्तार, सभी जिलों में मिले मरीज
https://bhaskarnews.in/?p=7552

Related Articles

One Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close